Pen Ka Business Kaise Kare | How to Start Ball Pen Making Business in हिंदी

Pen Ka Business Kaise Kare – पेन बनाने का व्यापार कैसे शुरू करे, इसमें लगने वाले रा मटेरियल यानी कच्चा माल, मशीन की लागत व जगह का चुनाव ( How to Start Ball Pen Making Business in हिंदी )

दोस्तों, पेन एक ऐसा वस्तु है जो लोगो को हमेशा इसकी ज़रुरत पड़ती है, चाहे वो ऑफिस हो, स्कूल हो या आपका घर, हर जगह इसकी उपयोग को लेकर आप मना नहीं कर सकते है। बाल पेन का उपयोग काफी बड़े स्तर पर  किया जाता है। क्योकि ये पेन दूसरे पेन के मुकाबले काफी सस्ता पड़ता है और क्वालिटी भी अच्छी होती है।

सबसे अच्छी बाल पेन की खासियत ये है की इसकी जो स्याही होती है वो पलक झपकते ही सूख जाती है। बाल पेन का दूसरा नाम “यूज़ एंड थ्रो” भी है क्योकि इसको आप एक बार इस्तेमाल करने के बाद फेक देते है सायद इसी वजह से इसकी लोकप्रियता काफी ज्यादा फ़ैल चुकी है।

लेकिन क्या आपको पता है बाल पेन के बिज़नेस को आप कम लागत में शुरू कर सकते है। तो देर किस बात की चलिए जान लेते है की Pen Ka Business Kaise Kare अपने घर से ही।

Paster you code here ( Down setting will be same)
pen ka business kaise kare

बाल पेन क्या है? | What is Ball Pen?

जब से मार्किट इ बाल पेन आया है तब से मानो स्कूल, ऑफिस की दुनिया में क्रांति आ गयी है क्योकि इसके पहले लोग इंक पेन का इस्तेमाल करते थे जिसका इंक सूखने में ही घंटो लग जाते थे, किसी ने गलती से अपना भीगा हुआ हाथ या पानी लगा दिया तो समझो खेल खत्म।  क्योकि इसका  इंक पानी पड़ते ही बिगड़ जाते थे जिससे पूरा पेज भी ख़राब हो जाता था।

लेकिन बेल पेन से लिखने से ऐसा बिलकुल भी नहीं होता है न ही आपके पन्ने ख़राब होते है ऐसा इसलिए क्योकि इसकी इंक पालक झपकते ही सूख जाती है।

पेन का खोज किसने किया है ? Pen Ka Khoj Kisne Kiya?

वैसे जहा तक इस Pen Ka Business Kaise Kare में आपको पेन के खोजने वाले का नाम नहीं जानेंगे तो भी चल जाएगा, क्योंकि हमें किसी कम्पैटिशन में नहीं बैठना है हमें सिर्फ पेन का बिज़नेस करना है।

लेकिन फिर भी जानकारी के लिए मै आपको बता दू की इसके आविष्कार के पीछे किसी एक व्यक्ति का नाम नहीं जुड़ा हुआ है। पेन की शुरुआत फाउंटेन पेन के आविष्कार से हुई थी जिसका पूरा श्रेय फ्रेंच के इन्वेस्टर Petrache Poenaru (पेट्राचे पोएनरु ) को ही जाता है।  इसकी शुरुआत सन 1857 में की थी।

पेन बनाने के लिए कच्चा माल कहा से खरीदे ( Raw Material For Pen Making Business

Pen Ka Business शुरू करने के लिए आपको कुछ रॉ मटेरियल यानि कच्चा माल की ज़रुरत पड़ती है। घबराने की बिलकुल भी ज़रुरत नहीं है हमने आपके लिए सारा काम करके रखा है बस आपको अच्छे से समझ लेना है। नीचे कुछ कच्चे माल की सूची हमने दिया है कृपया कागज़ कलम ले के इसे नोट कर ले –

  • बैरल –  बैरल पेन को वो हिंसा होता है जिसमे स्याही भरी जाती है जिसे हम सरल भाषा में रिफिल भी बोलते है। इसकी मार्केट प्राइस 120 से 140 रूपये में आपको 250 पीस मिल सकती है।
  • स्याही –  पेन की सबसे महत्ब्पूर्ण सामग्री स्याही ही होती है। जैसे गाड़ी को चलने के लिए पेट्रोल या डीजल की ज़रुरत पड़ती है ठीक इसी प्रकार से किसी भी पेन के लिए स्याही की ज़रुरत पड़ती है।  ये आपको मार्किट में 120 रुपये से लेकर 400 रुपये प्रति लीटर में मिल सकती है।
  • टिप – टिप किसी भी पेन का सबसे महत्ब्पूर्ण हिस्सा होता है। इसी की सहारे से हम लिखते है जो पेन के सब से आगे लगी होती है। जितना हम लिखते जाते है इंक इसी  के सहारे हमारे कागज़ के ऊपर बहार निकलती जाती है। ये आपको मार्किट में 28 रुपये से लेकर 35 रुपये प्रति 144 पीस मिल सकते है।
  • अडॉप्टर : एडप्टर बैरल और टिप के बीच का हिस्सा होता है. ये मार्किट में आपको 4.5 रुपये प्रति 144 पीस मिल सकता है।
  • ढक्कन : ढक्कन से तो आपको पता चल हो गया होगा की ये पेन को ढकने के काम में आता है। ये आपको मार्किट में 25 रुपये प्रति 100 पीस मिल जाएंगे।

जैसा की आप जानते है की आजकल हर एक वस्तु इंटरनेट यानी ऑनलाइन आपको घर बैठे मिल जाती है ठीक इसी प्रकार Pen Ke Business के लिए आपको कच्चा माल ऑनलाइन मिल जायेंगे।  वैसे तो बहुत से साइट्स है लेकिन कुछ ही विस्वास के लायक है। इनमे आप सबसे पहले indiamart.com से जाकर अपनी ज़रुरत की चीज काफी अच्छे दाम में खरीद सकते है।

Pen Ke Business Ke Liye कौन से मशीने खरीदनी पड़ेगी  | Ball Pen Making Machines

पेन का बिज़नेस शुरू करने के लिए आपको कम से कम 200 वर्ग फीट जगह की ज़रुरत होती है। पेन बनाने के लिए आपको कम से कम 5 मशीने बैठानी पड़ती है। नीचे आपको उन सभी मसीनो के बारे में जानकारी दिया जा रहा है –

  • इंक फिलिंग मशीन : इस फिलिंग मशीन की सहायता से पेन के बैरल में स्याही डाली जाती है.
  • पंचिंग मशीन : पंचिंग मशीन वो मशीन है जिसकी सहायता से बैरल में एडाप्टर सेट किया जाता है.
  • सेन्ट्रीफ्यूगिंग मशीन: इस मशीन की मदद से पेन में जो भी स्याही भरी जाती है भरने के बाद जो भी अतिरिक्त हवा बचती है उसको इस मशीन के सहायता से बाहर निकाल दिया जाता है.
  • टिप फिक्सिंग मशीन : इस मशीन की सहायता से पेन में टिप लगाया जाता है जिसके द्वारा लिखने के टाइम थोड़ा थोड़ा कर के इंक बाहर नीकलता जाता है।

 

पेन बनाने के व्यापार के लिए कुल लागत ? Pen Manufacturing Plant Cost

वैसे पेन बनाने की कुछ मशीने महगी भी आती है जो पूरी तरह से आपका काम ऑटोमॅटिक करके दे देती है लेकिन शुरआती दौर में आप ज्यादा महगा मशीन न ले। वैसे आम तौर पर आपको सस्ते पेन बनाने की मशीन की कीमत 25,000 रुपये है, ये मशीन छोटा व्यापार करने के लिए ठीक है. अगर आप शहर में रहते है तब वहा आपको बड़े हार्डवेयर के दुकानों पर ऑफलाइन भी आसानी से मिल सकती है।

उपरोक्त सभी चीजों को लेकर पहली बार आपको पेन बनाने के व्यापार को शुरू करने के लिए 30 से 40 हज़ार रुपये लग सकते है. याद रहे की इन 40000 रुपये में 25000 तो सिर्फ मशीनो के दाम है।

इस सब चीजों को देख कर एक बात तो पक्का हो गया की पेन के बिज़नेस को करने के लिए मशीन लगाने के बाद आप कम लागत में आसानी से कर सकते है।

इसके अलावा अगर आप पेन के बिज़नेस को बड़ा बिज़नेस के तौर पर शुरू करना चाहते है तब आपको इसके लिए आटोमेटिक मशीने खरीदने की ज़रुरत पड़ेगी। अगर आप पेन के बिज़नेस करने के लिए आटोमेटिक मशीने खरीदते है तब ये लागत जो अभी 25000 है वो बढ़ कर करीब 4 ;लाख रुपये हो जाती है या इससे ज्यादा भी हो सकता है।

पेन कैसे बनते है? ( Ball Pen Making Process )

पेन बनाने की प्रक्रिया ज्यादा कठिन नहीं है इसे कोई भी छोटी सी ट्रैंनिंग लेकर सीख सकता है, वैसे हम पेन कैसे बनते है इसके बारे में पूर्ण विवरण दे रहे है –

  • सबसे पहले बैरल को पंचिंग मशीन में लगाना होता है. इस मशीन में पहले से ही एडाप्टर लगे हुए होते है. बैरल एडाप्टर को देखते हुए सही जगह लगाकर पंच करते है बैरल में एडाप्टर सेट हो जाता है।
  • जब एडाप्टर से सेट हो जाता है उसके बाद स्याही भरने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है। स्याही भरने के लिए इंक फिलिंग मशीन का इस्तेमाल होता है। इंक फिलिंग मशीन में पहले से ही स्याही भरी जाती है। स्याही भरते समय आपको एक बात ध्यान रखना है की आपको बैरल के साइज के अनुसार ही स्याही भरना है. जब आप बैरल से ज्यादा स्याही भर देंगे तब वो बाहर भी आ सकती है जिसे आपके पेन के क्वालिटी के ऊपर बहुत गन्दा असर पड़ सकता है।
  • इसके बाद आपको बैरल के ऊपर हाथ लगाकर रखें, फिर उसे टिप फिक्सिंग मशीन में लगाया जाता है. इस मशीन के सहायता से स्याही भरे बैरल में टिप लगाया है. इसके बाद आपके सामने पेन बनकर तैयार हो जाता है।
  • आप आपको इस पेन को सेन्ट्रीफ्यूगिंग मशीन में डालना पड़ता है ताकि पेन के अंदर बचे कुचे हवा को बाहर निकाला जा सके।
  • अब आप इस पेन को लिखने के लिए आराम से इस्तेमाल कर सकते है, इस तरह से आप Pen Ka Business Kaise Kare के बारे में सोच सकते है।
  • इस तरह से आप मशीनों के मदद से अधिक पेन बना सकते है और आप अपने ब्रांड का पेन बाजार में बेच सकते है।

पेन बनाने के व्यापार की मार्केटिंग कैसे करे? ( Ball Pen Making Business Marketing)

“कितना भी अच्छा आप अपना माल तैयार कर लो जब तक उसके खरीदार नहीं आते है तब तक सब शून्य के बराबर है।”

बाजार में आप से पहले कई छोटी बड़ी कम्पनिया है जो पहले से ही पेन का व्यापार कर रही है, ऐसे में अगर आपको मार्किट में टिकना है तब आपको उन से अलग मार्केटिंग करने का तरीका अपननाना पड़ेगा। लेकिन याद रहे की जब आपके पेन की क्वालिटी अच्छी रहेगी तब मार्केटिंग करना भी अपने आप आसान हो जायेगा।

हमेशा आपको पेन की स्याही की क्वालिटी को बेहतर रखना होगा इसके साथ साथ आपको पेन के टिप की क्वालिटी भी अच्छा रखना होगा ताकि लिखने के टाइम यूज़र को किसी भी प्रकार की दिक्कत न आये, पेन टिप आपका ऐसा होना चाहिए की वो न तो कम इंक निकाले और न ही ज्यादा ताकि लोगो का विस्वास आप पर जल्दी बन सके और बाजार को पकड़ने में आसानी हो।

अपने ब्रांड को प्रमोट करने लिए आप अपने शहर में बड़े बड़े पोस्टर्स और होर्डिंग लगवा सकते है इसके अलावा आप ऑनलाइन मार्केटिंग का भी इस्तेमाल कर सकते है। सहर के अच्छे जगहों पर आप होर्डिंग्स लगवाए जहां स्कूल कॉलेज ज्यादा हो ताकि स्टूडेंट्स की नज़र उस पर पड़ सके।

जितने भी स्टेशनरी की दुकाने है चाहे वो छोटी हो व बड़ी आपको उन सबसे संपर्क करना पड़ेगा और उन्हें कुछ पीस सैंपल के तौर पर बिना पैसो के दे दीजिये ताकि वो इस्तेमाल करके आपको फीडबैक दे सके।

जैसा मै जब 10वीं  में था तब एक कंपनी              आती थी पेन का नाम है Elkos, बहुत ही जबरदस्त पेन था शायद आज भी होगा इसके इंक मुझे काफी ज्यादा पसंद थे क्योंकि ये पेन लिखने में एक दम मक्ख़न की तरह चलता था। ज्यादा डार्क नहीं था लेकिन लिखने में भाई पूछो मत।

पेन की पैकेजिंग कैसे करे? ( Ball Pen Packaging Kaise Kare?)

किसी भी प्रोडक्ट्स की बिक्री में उसके पैकेजिंग में भी काफी अहम् किरदार होता है. एक कहावत है –

जो दिखता है वही बिकता है

ये बात आप ध्यान ज़रूर रखे की पैकेजिंग उसकी नल्ले किस्म की नहीं होनी चाहिए, वैसे आम तौर पर लोग 5 या 10 पीस के पैकेट बनाते है उसमे आप 1 पेन एक्स्ट्रा अगर डाल दिये इस आपके ग्राहक आपके तरफ आकर्षित होंगे। वैसे जब आपके पेन की क्वालिटी अच्छी रहेगी तब दूकानदार आपको आर्डर भी एक दम तगड़ा वाला देंगे क्योकि उनको आपके पेन से क्वालिटी भी मिल रही है और मुनाफा भी।

पेन के बिज़नेस के लिए लोन कैसे ले ? Bal Pen Business Ke Liye Loan Kaise Le?

दोस्तों अगर आप बॉल पेन बिज़नेस (Ball Pen Business Kaise Kare ) को छोटे लेवल पर करते है तब आपको लोन लेने की आवश्यकता नहीं पड़नी चाहिए क्योकि आप इसे अपने घर से भी कर सकते है।

लेकिन अगर आप बॉल पेन बिज़नेस को बड़े लेवल पर करते है या इसे बड़े लेवल पर लेके जाना चाहते है तब आपको मुद्रा लोन लेने की ज़रुरत पड़ सकती है। इसके लिए आपको इनके ऑफिस जाना पड़ेगा और आपको आपने बिज़नेस की सही सही जानकारी देने होंगे- जैसे आपको पेन के बिज़नेस के लिए कौन कौन से उपकरणों या मशीनों की ज़रुरत पड़ने वाली है और आपको कितने पैसो की ज़रुरत पड़ने वाली है। इसके बाद आपको अपना आवेदन सबमिट करना होगा।

जैसे ही आपका लोन बैंक के तरफ से मांन्य हो जाता है इसके तुरंत बाद आपके खाते में पूरा पैसा भेज दिया जाता है।

पेन बनाने के बिज़नेस के लिए ज़रूरी डाक्यूमेंट्स कौन कौन से है? Pen Business Required Documnts

Documents For Ball Pen Making Business  कोई भी आप शुरू करते है तब आपको कुछ आपके पर्सनल डाक्यूमेंट्स की ज़रुरत पड़ती है इसके साथ साथ आपको Business से सम्बंधित लाइसेंस की ज़रुरत पड़ती है-

Personal Documents : Personal Documents के अंदर बहुत से डाक्यूमेंट्स होते है जैसे :-

  • ID Proof:- Aadhar Card, Pan Card, Voter Card
  • Address Proof:- Ration Card, Electricity Bill
  • Bank Accounts With Passbook
  • Photograph Email ID,
  • Working Phone Number
  • Other Documents

Business Documents:-  Business Documents के अंदर बहुत से डाक्यूमेंट्स होते है, कुछ के नाम हमनें नीचे लिखा है –

  • Business Registration
  • MSME Industry Aadhar Registration
  • Local Municipal Body Authority
  • Business Pan Card
  • GST Number
  • Business Plan Card
  • BIS. Certificate

पेन बनाने के व्यापार का पंजीकरण ( Pen Business Registration )

मेरी सलाह मानो तो आप पहले अपना व्यापार शुरू करना चाहिए जब पेन का बिज़नेस अच्छे से फलने फूलने लगे तब आपको अपना बिज़नेस पंजीकरण करा लेना चाहिए। आप अपनी कंपनी का पंजीकरण LLP, OPC  या PVT. LTD. के अंतर्गत करा सकते है।  आपको अपने लोकल अथॉरिटी से ट्रेड लाइसेंस लेने की आवश्यकता होती है।

आपके बिज़नेस का पंजीकरण करवाने के लिए आपके पास कंपनी के नाम का करंट अकाउंट और पैन कार्ड भी होना ज़रूरी है। इसमें आपको “प्रदूषण नियन्तरण बोर्ड” के लाइसेंस की ज़रूरत नहीं पड़ती है। किसी भी बड़े बिज़नेस को शुरू करने के लिए ये बहुत ज़रूरी प्रक्रिया होती है।

निष्कर्ष:- आशा करते है दोस्तों आपको हमारा ये पोस्ट “Pen Ka Business Kaise Kare” अच्छा लगा होगा, अगर आपको अच्छा लगा हो तो कृपया करके इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे ताकि उनको भी बिज़नेस के बारे में कुछ नया सीखने को मिले।

 

Paster you code here ( Down setting will be same)

Leave a Reply

You are currently viewing Pen Ka Business Kaise Kare | How to Start Ball Pen Making Business in हिंदी
Paster you code here ( Down setting will be same)